एचएनबी मेडिकल विवि में रजिस्ट्रार की तैनाती पर विवाद, हल्द्वानी में फीजियोलॉजी विभाग पर संकट

Manthan India
0 0
Read Time:3 Minute, 28 Second

एनएचबी मेडिकल यूनिवर्सिटी में रजिस्ट्रार के पद पर चिकित्सा शिक्षा निदेशालय के उप निदेशक की तैनाती को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। रजिस्ट्रार चयन के लिए तय प्रक्रिया न अपनाए जाने पर विभाग से लेकर सोशल मीडिया में सवाल खड़े किए जा रहे हैं।सरकार ने एचएनबी मेडिकल यूनिवर्सिटी में संयुक्त सचिव एसएस रावत को रजिस्ट्रार का चार्ज दिया था। लेकिन स्वास्थ्य कारणाों की वजह से अब उन्होंने इस पद पर काम करने में असमर्थता जताई है। इसके बाद विवि में नए रजिस्ट्रार की तैनाती की प्रक्रिया चल रही है। सूत्रों के अनुसार रजिस्ट्रार के लिए चिकित्सा शिक्षा निदेशालय में तैनात उप निदेशक को तैनात करने का प्रस्ताव है। विभाग के सूत्रों का कहना है कि रजिस्ट्रार के चयन में तय प्रक्रिया नहीं अपनाई गई है। जिससे सोशल मीडिया से लेकर विभाग में इस तैनाती को लेकर कई तरह की चर्चाएं चल रही हैं। हालांकि एचएनबी चिकित्सा विवि के कुलपति प्रो हेमचंद्रा ने बताया कि विवि के लिए अभी कामचलाऊ रजिस्ट्रार की व्यवस्था हो रही है। जिन प्रोफेसर का नाम रजिस्ट्रार के लिए सोशल मीडिया में चल रहा है, उनका उनसे कोई निजी ताल्लुक नहीं है। शासन से कुछ नाम मांगे गए थे, जो भेजे गए हैं। उनके लिए विवि की ओर से कोई सिफारिश नहीं की गई है। सरकार जिसे चाहे उसे विवि रजिस्ट्रार का चार्ज दे सकती है। नियमित रजिस्ट्रार की नियुक्ति की प्रक्रिया चल रही है।

हल्द्वानी में फीजियोलॉजी विभाग पर संकट

चिकित्सा शिक्षा विभाग के जिस उप निदेशक को रजिस्ट्रार बनाने का प्रस्ताव है, वह मूल रूप से हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज में फीजियोलॉजी विभाग में प्रोफेसर के पद पर तैनात हैं। कुछ साल पूर्व उन्हें उप निदेशक के पद पर निदेशालय से अटैच किया गया था। लेकिन हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य प्रो अरुण जोशी ने सरकार को पत्र लिखकर प्रोफेसर डा. एएन सिन्हा को तत्काल वापस भेजने की मांग की थी। नेशनल मेडिकल कमीशन के दौरे को देखते हुए सरकार ने प्रो सिन्हा को वापस भेजेने के आदेश भी किए लेकिन अभी तक प्रो सिन्हा वहां गए नहीं हैं। जबकि उनका वेतन भी हल्द्वानी से निकल रहा है। प्रो जोशी ने बताया कि प्रो सिन्हा को वापस देने का अनुरोध किया गया है।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

यूपी के बाद उत्तराखंड में भी सख्ती, 258 धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटाए

उत्तराखंड पुलिस ने ध्वनि प्रदूषण रोकने के लिए प्रदेश भर में 258 धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटा दिए हैं। हाईकोर्ट के आदेश के बाद राज्य के सभी 13 जिलों में यह अभियान चलाया जा रहा है। डीजीपी अशोक कुमार ने यह जानकारी देते हुए बताया कि एक जून से यह विशेष […]

You May Like

Subscribe US Now