देवभूमि उत्‍तराखंड में हैं बजरंगबली के यह पांच प्रसिद्ध धाम, हनुमान जन्‍मोत्‍सव पर दर्शन कर पाएं पुण्‍य

Manthan India
0 0
Read Time:4 Minute, 1 Second

 उत्‍तराखंड में हनुमान जी के कई प्रसिद्ध मंदिर हैं। जहां आए दिन बड़ी संख्‍या में भक्‍त पहुंचते हैं। हनुमान जन्मोत्सव पर 16 अप्रैल रविवार को खास संयोग बन रहा है। हनुमान जन्‍मोत्‍सव के मौके पर दैनिक जागरण आपको देवभूमि में स्थित पांच प्रसिद्ध हनुमान मंदिरों के बारे में बता रहा है।इन मंदिरों में सबसे प्रमुख नाम बाबा नीम करौली कैंची धाम का है। यह मंदिर नैनीताल जिले में रानीखेत भवाली हाइवे पर मौजूद है। जहां हर वर्ग और धर्म के श्रद्धालु पहुंचते हैं। यह हर वर्ष 15 जून को मेला लगता है। बाबा नीम करौली को हनुमान का रूप माना जाता है। जहां दूरदराज से पहुंचे अनुयायी हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं। इतना ही नहीं कई किमी तक लंबी लाइन लग जाती हैं।

कैंची धाम मेले की शुरुआत वर्ष 1964-65 के आसपास हुई थी। संत नीम करौली महाराज ने यहां मंदिर स्थापित कर मेले की परंपरा शुरू की थी। कहते हैं कि यहां पहुंचकर सच्चे मन से माथा टेकने वालों की बिगड़ी बन जाती है। बाबा के भक्तों में एप्पल कंपनी के संस्‍थापक स्टीव जाब्स, फेसबुक के मालिक मार्क जुकरबर्ग, हालीवुड अभिनेत्री जूलिया राबर्ट्स तक का नाम शामिल है।नैनीताल में हनुमान गढ़ी स्थित है। इस मंदिर का निर्माण बाबा नीब करौली महाराज ने 1950 में करवाया था। मान्यता है कि हनुमान जी के इस मंदिर में आने वाले हर श्रद्धालु की मनोकामना पूर्ण होती है। इस मंदिर से श्रद्धालुओं की अपार आस्था जुड़ी है। यहां से नैनीताल की वादियों का सुंदर नजारा देखा जा सकता है। मंदिर में भगवान राम और माता सीता व श्रीकृष्‍ण की अष्‍टधातु से बनीं मूर्तियां हैं।

चमोली जिले के पर्यटन स्‍थल औली में हनुमान जी का मंदिर है। मान्यता है कि जब लक्ष्मण मेघनाद से युद्ध करते हुए मूर्छित हो गए थे तो सुषेण वैद्य के कहने पर हनुमान संजीवनी बूटी लेने उत्तराखंड आए थे। उस समय उन्‍होंने औली में कुछ समय विश्राम किया था।यह मंदिर बदरीनाथ मंदिर से करीब 12 किमी दूर स्थित है। मान्‍यता है कि यहां महाभारत काल में हनुमान जी ने भीम का घमंड तोड़ा था। जहां भीम और हनुमान जी की भेंट हुई थी, वह जगह हनुमान चट्टी ही है। मंदिर के साथ ही यह स्‍थान ट्रैकिंग के लिए भी यह मुफीद है।

प्रसिद्ध श्री सिद्धबली मंदिर में दर्शन के लिए हर दिन श्रद्धालुओं का तांता लगा रहता है। यह मंदिर कोटद्वार में स्थित है। यहां उत्‍तराखंड के साथ ही विभिन्‍न राज्‍यों से श्रद्धालु यहां आकर मन्‍नत मांगते हैं। मनोकामनाएं पूर्ण होने के बाद श्रद्धालु मंदिर में भंडारे का भी आयोजन करते हैं। गौरतलब है कि यहां होने वाले भंडारे के लिए सालों पहले बुकिंग करनी पड़ती है।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

इस हनुमान धाम में पूरी होती है इच्‍छा, भंडारे के लिए सालों पहले करानी पड़ती है बुकिंग

 उत्‍तराखंड कोटद्वार क्षेत्र में हनुमान जी का प्रसिद्ध श्री सिद्धबली मंदिर स्थित है। मान्‍यता है कि यहां आने वाले हर भक्‍त की इच्‍छा पूरी होती है। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि यहां भंडारा कराने के लिए सालों का इंतजार करना पड़ता है।मान्‍यता है कि यहां आकर […]

Subscribe US Now