गोली चली… BJP नेता की पत्नी की हत्या हो गई, SSP को किसी ने कुछ बताया तक नहीं, SDM पर भड़के लोग

Manthan India
0 0
Read Time:5 Minute, 20 Second
काशीपुर में 50 हजार रुपये के इनामी बदमाश को दबोचने के लिए आई यूपी की ठाकुरद्वारा पुलिस ने कुंडा थाना पुलिस को अपने आने की भनक तक नहीं लगने दी। बुधवार की शाम को 10-12 लोग सादे कपड़ों में दो गाड़ियों से ज्येष्ठ उप प्रमुख (भाजपा) गुरताज भुल्लर के फार्म हाउस पर आ धमके। उनके हाथों में पिस्टल थे। परिवार के लोगों ने बदमाश समझकर उन्हें ललकारा। इस दौरान हुई फायरिंग में गुरजीत कौर की मौत हो गई। कुंडा थाना पुलिस को इस घटना की भनक तब लगी जब मृतका के चाचा ने पुलिस को हत्या हो जाने की जानकारी दी। इस पर कुंडा थाना प्रभारी दिनेश फर्त्याल भी उच्चाधिकारियों को सूचित किए बगैर ही घटनास्थल की ओर रवाना हो गए। मौके पर पहुंचकर वारदात की गंभीरता को देखते हुए एसओ नेे घायलों को अस्पताल पहुंचाया। वारदात में ठाकुरद्वारा के प्रभारी निरीक्षक योगेंद्र सिंह, आरक्षी राघव, सिंघम, शिवकुमार और राहुल घायल हो गए।

घायलों को कुंडा थाना पुलिस ने सरकारी अस्पताल पहुंचाया लेकिन इसी दौरान घायल महिला की मौत की खबर सुनकर उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। ठाकुरद्वारा इंस्पेक्टर योगेंद्र ने तत्काल एसएसपी मुरादाबाद हेमंत कुटियाल को वारदात में पुलिस कर्मियों के घायल होने की सूचना दी।कुटियाल ने ही ऊधमसिंह नगर के एसएसपी मंजूनाथ टीसी को घटना के बारे में बताया। तब कहीं जाकर एसएसपी मंजूनाथ टीसी को इस बारे में जानकारी हुई। एसएसपी मंजूनाथ के निर्देश पर जिले के आला पुलिस अधिकारी घटना स्थल की ओर से दौड़ पड़े।

एसपी काशीपुर चंद्रमोहन सिंह, सीओ वंदना वर्मा, सीओ रामनगर बीएस भाकुनी, सीओ बाजपुर भूपेंद्र सिंह, कोतवाल मनोज रतूड़ी, कोतवाल जसपुर प्रेम सिंह दानू, कोतवाल बाजपुर प्रवीण सिंह कोश्यारी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए।इस दौरान गुस्साए लोगों ने कुंडा थाने के सामने एनएच को घेरकर वहां जाम लगा दिया। इससे एनएच पर वाहनों की लबी कतारें लग गईं। देर रात तक पुलिस अधिकारी प्रदर्शन कर रहे लोगों को समझाने में लगे थे लेकिन प्रदर्शनकारी टस से मस होने को तैयार नहीं हुए।

जनाक्रोश से फूले पुलिस के हाथ-पांव, एसडीएम पर भड़के लोग
मृतका गुरजीत कौर बेहद सौम्य स्वभाव की थी। उसकी हत्या की खबर ने क्षेत्र की जनता को झकझोर कर रख दिया। उसकी पांच वर्ष की एक बेटी है और चार माह पूर्व ही उसने एक बेटे को जन्म दिया था। गुरजीत कौर का मायका काशीपुर के मोहल्ला टांडा उज्जैन का है। उसकी मौत को लेकर उपजे आक्रोश से पुलिस के हाथ-पांव फूल गए।

एहतियात के तौर पर अधिकारियों ने कुंडा थाने का मेन गेट तक बंद कर दिया। प्रदर्शनकारियों को समझाने के दौरान एसडीएम अभय प्रताप सिंह के मुंह से अनायास ही कुछ निकल गया जिस पर लोग उन पर भड़क गए। मौके पर मौजूद एसपी चंद्रमोहन सिंह, सीओ वंदना वर्मा व अन्य अधिकारियों ने एसडीएम को वहां से हटाकर स्थिति को जैसे-तैसे संभाला।
जनप्रतिनिधियों ने कड़े शब्दों में की घटना की निंदा
गुरजीत कौर की हत्या की खबर सुनकर जनप्रतिनिधि भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने इस वीभत्स घटना की कड़े शब्दों में निंदा कर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। गदरपुर विधायक अरविंद पांडेय, पूर्व सांसद बलराज पासी और पूर्व विधायक हरभजन सिंह चीमा ने मौके पर पहुंचकर पुलिस अधिकारियों से वार्ता की।एसपी चंद्रमोहन ने उन्हें घटना के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि सभी आरोपियों के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कर गिरफ्तार किया जाएगा। जरूरत पड़ी तो आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए शासन के स्तर पर भी वार्ता की जा सकती है।
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

देहरादून की नीलू वर्मा ने दी कई परीक्षाएं, PCS अफसर बनने के लिए की उन्‍होंने कड़ी मेहनत

देश व समाज सेवा के लिए प्रशासनिक सेवा एक बेहतर विकल्प है, यही सोच लेकर पीसीएस अधिकारी नीलू वर्मा ने 2018 में भरसार विश्विद्यालय में बतौर वित्त अधिकारी निुयक्ति ग्रहण की। कोषाधिकारी के पद पर हैं तैनात वर्तमान परिेपक्ष्य में लैंसडौन कोषागार में कोषाधिकारी के पद पर तैनात नीलू वर्मा […]

You May Like

Subscribe US Now